बुधवार, 5 अप्रैल 2017

तो पैसे लेकर कहाँ जा रहे थे रेंजर संजय सिंह

श्रावस्ती: भिनगा -बहराइच मार्ग पर लक्षमनगर तिराहे पर वन क्षेत्राधिकारी के पास से मिले 10 लाख रुपयों का राज दो दिन बाद भी नही खुल सका है। मामला उलझा है तो स्पष्ट रूप से किसी खेल की और संकेत कर रहा है। बुधवार को इनकमटैक्स की टीम जांच कर लौट गयी, लेकिन इस मामले में उन्होंने कोई बयान नहीं दिया। आयकर अधिकारी की चुप्पी मामले को और पेचीदा कर रही है। गौर करने की बात यह है की पिछले दिनों श्रावस्ती में करोड़ो रूपये की खैर की लकड़ी बरामद हुयी है। इस मामले की जांच करने आये प्रमुख वन संरक्षक तीन दिन तक यहाँ डेरा डाले हुए थे। इस दौरान भिनगा जंगल की सघन जांच हुयी थी। बड़े पैमाने पर अवैध कटान की पुष्टी भी हुयी। इस मामले में पूर्वी वा पश्चिमी सोहेलवा रेंजर के अलावा भिनगा के एक डिप्टी रेंजर पर भी कार्रवाई हुयी है। जंगल के चप्पे चप्पे की पड़ताल के लिए टीम लगाई गयी है। इसी बीच बहराइच की जोर जा रहे भिनगा रेंजर संजय सिंह के पास सूटकेस में रखे 10 लाख रूपये क्राइम ब्रांच की टीम ने पकडे तो मामले का एक छोर दुसरे छोर से जुड़ता नजर आ रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें